नहीं रहीं पढ़ने-लिखने की मिसाल कायम करने वाली महिला:सबसे बुजुर्ग साक्षरता परीक्षा पास करने वाली भागीरथी अम्मा का 107 साल की उम्र में हुआ निधन, लॉकडाउन में ऑनलाइन पढ़ाई को लेकर भी हुई इनकी चर्चा

  • Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • Bhagirathi Amma, Who Passed Kerala’s Oldest Literacy Test, Died At The Age Of 107, Discussed About Online Studies During Lockdown

2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

सबसे बुजुर्ग साक्षरता परीक्षा पास करने वाली भागीरथी अम्मा का 22 जुलाई को निधन हो गया। उन्होंने 105 साल की उम्र में साक्षरता परीक्षा पास की थी। तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनकी तारीफ की थी। भागीरथी अम्मा ने बढ़ती उम्र के कारण होने वाली बीमारियों के चलते अंतिम सांस ली। भागीरथी ने सबसे ज्यादा उम्र में चौथी कक्षा पास करने का खिताब जीता था। चौथी में वे स्टेट टॉपर रहीं थीं। लॉकडाउन में वे ऑनलाइन पढ़ाई को लेकर भी चर्चा में रहीं।

भागीरथी अम्मा हमेशा ही पढ़ना चाहती थीं लेकिन बचपन में उनकी मां के न रहने की वजह से उन्हें अपना ये सपना छोड़ना पड़ा। मां के गुजर जाने के बाद भाई-बहनों की देखरेख की जिम्मेदारी उन पर आ गई थी। तब से अपनी जिम्मेदारियां पूरी करते हुए उन्हें पढ़ाई करने का कभी मौका नहीं मिला। अपनी पढ़ाई के बल पर अन्य बुजुर्ग महिलाओं के लिए मिसाल कायम करने वाली भागीरथी कोल्लम जिले के प्रक्कुलम की रहने वाली हैं। उन्हें महिला सशक्तिकरण की दिशा में योगदान के लिए नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।

पढ़ाई को लेकर उनकी लगन को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने रेडियो संबोधन में इस बुजुर्ग महिला की तारीफ की थी। उन्होंने भागीरथी अम्मा की कहानी सुनाते हुए कहा था कि अगर हमें जीवन में प्रगति करना है तो खुद का विकास करना चाहिए। वे 10 वीं की समकक्षा परीक्षा पास करने के सपने को पूरा किए बिना ही इस दुनिया से चली गईं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *